Health Department

नगर स्वास्थ्य अधिकारीए श्री रामकृपाल यादव

गाजियाबाद नगर निगम के स्वास्थ्य विभाग में 3633 कर्मचारियों द्वारा कार्य कराया जा रहा है :
नगर निगम सीमान्तर्गत आने वाले जोनों तथा उनमे तैनात कर्मीयो का विवरण निम्न अनुसार है :

01 सिटी जोन

सफाई एवं खाद्य निरीक्षक श्री वी0पी0 शर्मा
स्थायी सफाई कर्मचारियों की संख्या 560
भिश्ती कर्मचारियों की संख्या 10
अधिसंख्यक भिश्ती कर्मीयों की सं0 16
सफाई नायक 19
दैनिक वेतन भोगी सफाई श्रमिक 03
ठेका सफाई श्रमिक 569
कुल योग 1177

02 मोहन नगर

सफाई एवं खाद्य निरीक्षक श्री योगेन्द्र कुमार यादव
स्थायी सफाई कर्मचारियों की संख्या 134
दैनिक वेतन भोगी सफाई श्रमिक 20
ठेका सफाई श्रमिक 451
कुल योग 605

03 वसुन्धरा जोन

सफाई एवं खाद्य निरीक्षक कविता त्यागी
स्थायी सफाई कर्मचारियों की संख्या 144
दैनिक वेतन भोगी सफाई श्रमिक 8
ठेका सफाई श्रमिक 355
कुल योग 507

04 विजय नगर जोन

सफाई एवं खाद्य निरीक्षक पवन कुमार गुप्ता
स्थायी सफाई कर्मचारियों की संख्या 83
ठेका सफाई श्रमिक 564
कुल योग 647

05 कविनगर जोन

सफाई एवं खाद्य निरीक्षक जयद्रथ सिंह
स्थायी सफाई कर्मचारियों की संख्या 176
ठेका सफाई श्रमिक 378
कुल योग 554

प्रर्वतन विभाग - समस्त जोनों में अतिक्रमण/प्रवर्तन सम्बन्धी अभियान चलाये जाने हेतु स्वास्थ्य विभाग द्वारा कर्मचारियों की तैनाती प्रवर्तन विभाग में की जाती है |


तहसीलदार सफाई नायक श्री संजय
स्थायी सफाई कर्मचारियों की संख्या 37
कुल योग 37

अतिरिक्त सफाई मृतक आश्रित व काशीराम योजना के अन्तर्गत श्रमिक 106
कुल स्वास्थ्य विभाग में कर्मचारियों की संख्या 3633
स्थायी सीवर सफाई कर्मचारी की संख्या 43
कुल योग 3672

स्वास्थ्य विभाग द्वारा किये जा रहे कार्य

1. स्वास्थ्य विभाग का सबसे महत्पूर्ण कार्य नगर की साफ-सफाई हेतु सुचारु/नियमित रुप से कराने का है। जिससे शहर में गन्दगी का माहौल नही बन पाता है। संक्रमण रोगों के फैलने की स्थिति ना के बराबर होती है।

2. स्वास्थ्य विभाग में जन्म-मृत्यु का भी रजिस्ट्रेशन कराया जाता है।

3. सडकों की साफ सफाई कराकर कूडों का भी निदान किया जाता है।

4. समय-समय पर स्वास्थ्य विभाग द्वारा फॉगिंग मशीनों द्वारा शहर में दवाईयों का भी छिडकाव कराया जाता है। जिससे बीमारियों का प्रकोप कम होता है।

5. हिन्डन पर दाह संस्कार का भी कार्य नगर निगम के स्वास्थ्य द्वारा रजिस्ट्ररों के रिकार्ड किये जाते है।

6. बडे नाले व छोटे नालों की सफाई स्वास्थ्य विभाग द्वारा ही करायी जाती है।

7. गाजियाबाद नगर निगम क्षेत्रों में जितना भी कूडा होता है उसे स्वास्थ्य विभाग वाहनों के द्वारा एक चिन्हित स्थान पर डाला जाता है।

8. स्वास्थ्य विभाग द्वारा मन्दिरों से उत्पन्न पूजा सामग्री (वेस्ट) के निस्तारण हेतु विशेष व्यवस्था की गयी है। 9. स्वास्थ्य विभाग द्वारा भारत सरकार के स्वच्छ भारत मिशन मे पूर्ण सहयोग किया जाता है।


जन्म-मृत्यु प्रमाण-पत्र सम्बंधी दिशानिर्देश :-

1. नवजात का नाम वास्तविक स्थान के नाम पर मुन्ना,मुन्नी, गुडिया, पप्पू,पप्पी आदि बच्चे के जन्म के पंजीकरण के समय दर्ज नही करना चाहिये।

2. यदि नवजात के जन्म पंजीकरण के समय वास्तविक नाम नही लिखा है तो जन्म प्रमाण-पत्र जारी करते समय बच्चे के नाम का कॉलम डैश (-) किया जायेगा।

3. जन्म-मृत्यु पंजीकरण अधिनियम 1969 मे निहित प्राविधानों के अनुसार जन्म के पंजीकरण में नाम की प्रविष्टी पंजीकरण की तिथि से 12 महीने के अन्दर निःशुल्क हो सकती है।

4. राज्य नियमों के प्राविधनों के अंतरगत जन्म रजिस्टर में बच्चे के नाम की पृविष्टि 15 वर्ष के भीतर चिंहित फीस का भुगतान किये जाने पर किया जा सकता है।

5. यदि बच्चे का नाम जन्म प्रमाण-पत्र में अंकित किया गया है तो नाम परिवर्तित नहीं किया जा सकता है।

6. जन्म अभिलेखो में बच्चे का नाम अंग्रेजी के बड़े अक्षरों (Capital Letters) में दर्ज किया जाना है ताकि नाम की स्पेलिंग की त्रुटियों से बचा जा सके।

7. यदि बच्चे का नाम बाद में जोडा जाता है और बच्चा स्कूल में अध्ययन कर रहा है तो स्कूल द्वारा प्रमाण-पत्र का पंजीकरण के समय सत्यापन किया जाना आवश्यक है।

8. पंजीकरण के समय माता पिता से स्वघोषण-पत्र लेंना आवश्यक है कि भविष्य में बच्चे का नाम परिवर्तित नहीं किया जायेगा।